Sherni Hindi Review: टाइगर हंटिंग को उजागर करती, लॉकडाउन अवधि में आने वाली बेहतरीन फिल्मों में से एक

Sherni Hindi Review BoxOffice: टाइगर हंटिंग को उजागर करती फिल्म

निखिल विद्यार्थी, मुंबई: Sherni Hindi Review । राज कुमार राव अभिनीत वर्ष 2017 की रिलीज फिल्म न्यूटन (Newton Hindi Film 2017) के निर्देशक एक और बेहतरीन कहानी ले कर आए हैं। न्यूटन फेम डायरेक्ट अमित मसूरकर (Amit Masurkar) की नई फिल्म Sherni (Hindi Review and Boxoffice) अमेजन प्राइम वीडियो पर 18 जून को रिलीज हुई। विद्या बालन (Vidya Balan) स्टारर फिल्म Sherni  अमेजन प्राइम (Amazon Original Prime Video) पर रिलीज हो चुकी है।

Sherni Hindi Film Review हाइलाइट्स:
  • लॉकडाउन अवधि में आने वाली सभी बेहतरीन फिल्मों में से एक
  • आस्था टिकू (Aastha Tiku) की पटकथा बड़े करीने और सूझ-बुझ से मुद्दों को उजागर करती है
  • कलाकारों का उम्दा अभिनय
  • निर्देशक अमित मसूरकर सीधे मुद्दे पर लाते हैं
  • Sherni देखने से पहले ध्यान रखें

शेरनी में एक ऐसी वन विभाग की अफसर की कहानी है, जो एक शेरनी को बचाने की कोशिश में लगी है। सालों पहले हिंदी फिल्मों के पहले सुपरस्टार राजेश खन्ना (Rajesh Khanna) की फिल्म ‘हाथी मेरे साथी’ में हमने हाथी और इंसान की दोस्ती देखी है। इस शेरनी की कहानी उससे अलग है। यह फिल्म जंगल, जीव, वन्य-संरक्षण और मुख्यतः बाघों के संरक्षण की गंभीर सीख देती है। इंटरनेशनल स्तर सराही गई फिल्म न्यूटन के बाद, अमित मसूरकर शेरनी नामक एक और फिल्म के साथ वापसी करते हैं। ट्रेलर निस्संदेह दिलचस्प था और इसने बड़ी संख्या में दर्शकों को आकर्षित किया। लेकिन अब जब फिल्म आ गई है तो क्या ट्रेलर वाली दिलचस्पी के लायक है? आइए पता करते हैं

पढ़ें रिव्यू फिल्म शेरनी का (Sherni Hindi Review)
लॉकडाउन अवधि में आने वाली सभी बेहतरीन फिल्मों में से एक (Film Sherni Review in Hindi)

फिल्म की कहानी एक बाघिन पर केन्द्रित है। जो जंगल में गांव के बीच कई ग्रामीणों को मार कर वहां डर का माहौल बना देती है। फिल्म शेरनी (Sherni Hindi Film/Sherni Hindi Review) में विद्या बालन (Vidya Balan) विद्या विन्सेंट की भूमिका में हैं। जो एक प्रभागीय वन विभाग अधिकारी है। अपनी नई पोस्टिंग पर आने के कुछ ही हफ्तों में उसके सामने एक चुनौती आ पड़ी। इससे वहां के स्थानीय जनजाति ग्रामीणों को अपने आश्रय की डर सताने लगती है। स्थानीय राजनीतिक पार्टियां चुनाव में लड़ने के लिए इस विषय को इस्तेमाल करने में जुट जाती हैं।

वन अधिकारी विद्या विंसेंट (विद्या बालन) को जांच के लिए बुलाया जाता है। विद्या विन्सेंट समझदारी दिखाते हुए T12 बाघिन और उसके दो शावकों को नेशनल पार्क में शिफ्ट करने का प्रस्ताव रखती है। उसका बॉस गुस्सैल बॉस बंसल (Brijendra Kala) जिम्मेदारियों से भागने वाला इंसान है और विद्या को नजरअंदाज करता है। इधर बंसल ने शिकारी पिंटू भैया (Sharat Saxena) से मदद मांगता है। जो बाघों को मारने में अपनी मर्दानगी समझता है। उसका निशना कभी नहीं चुकता। विद्या इन मुश्किलों से लड़ते हुए कैसे उस शेरनी को बचाएगी? क्या वह T12 को बचा पाएगी? यही फिल्म में देखने वाली आगे की बातें हैं। क्योंकि, विद्या की चुनौती सब जगह मौजूद है। क्या वह शिकारियों और विशेष अधिकारियों के साथ मिलकर बाघिन को खोजने में सफल होगी? जानने के लिए देखें फिल्म।

आस्था टिकू (Aastha Tiku) की पटकथा बड़े करीने और सूझ-बुझ से मुद्दों को उजागर करती है

आस्था टिकू ने पटकथा में वन, वन जीवन और वानिकी समयाओं को बड़े ही तरीके से उठाया है। संरक्षण और आजीविका के बीच बहस, पशु निवास के लिए खतरा, भ्रष्ट सरकारी अधिकारियों द्वारा अपने राजनीतिक आकाओं की बटरिंग करने वालों पर बखूबी कटाक्ष दिखाया गया है। सिनेमैटोग्राफर राकेश हरिदास (Rakesh Haridas Bollywood Cinematographer) जी ने दृश्यों में कमाल का चित्रण किया है। जिस तरह की विषय है, सिनेमैटोग्राफी देख कर डॉक्यूमेंट्री-शैली के रियलिज्म का एहसास होता है। ऊपर से ड्रोन शॉट्स का इस्तेमाल शेरनी के खौफ को दिखाने में कामयाब होते हैं। फिल्म का स्क्रीनप्ले आपको फिल्म देखते चले जाने को प्रेरित करता है। अनीश जॉन (Anish John) का साउंड डिजाइन भी कमाल का है। घने जंगल में ढलती धूप, चिड़‍ियों की आवाजें, कीड़ों की भिनभिनाना, पत्तियों की सरसराहट, अलग-अलग आवाजें, अद्भुत! स्क्रीनप्ले आकर्षक है और आपको पूरी फिल्म में बांधे रखता है। सिनेमैटोग्राफी शीर्ष पर है और सुंदर है क्योंकि फिल्म का 75% हिस्सा जंगल क्षेत्र में शूट किया गया है। संपादन थोड़ा और बेहतर हो सकता था, क्योंकि फिल्म में 4-5 दृश्यों की आवश्यकता तो बिलकुल नहीं थी।

विद्या कोई बंदूक चलाने वाली नायिका नहीं है। अपनी अद्भुत साधारणता के कारण, विद्या, न्यूटन के नायक की तरह, केवल अपना काम करने की कोशिश कर रही है। न्यूटन में सुरक्षा चिंताओं के बीच एक सुदूर गांव में चुनाव कराने का निर्देश दिया जाता है। वही शेरनी ने आर्थिक विकास की हमारी विषम समझ और देखभाल करने में होने वाली चूक के प्रभावों को दिखाया है। 

कलाकारों का उम्दा अभिनय (Sherni Hindi Acts Review)
Sherni Hindi Review: Highlights Tiger Hunting, one of the best films to come in the lockdown period
फिल्म Sherni के एक दृश्य में विद्या बालन। इमेज क्रेडिट: अमेजन प्राइम वाईटी ट्रेलर/स्क्रीनशॉट

फिल्म में कलाकारों की बात करें तो सभी का प्रदर्शन समान रूप से बेहतरीन है। विद्या बालन ने अपने करियर के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शनों में से एक को प्रस्तुत किया है। वह कमाल की दिखती हैं और उनकी संवाद अदाएगी बहुत ही अच्छी है। अक्सर लोगों से घिरी और खुद को मुखर करने में असफल, बालन, शेरनी में भीड़ से बाहर निकले बिना ही सबसे अलग दिखती हैं। शरत सक्सेना और विजय राज को देखकर दिल में खुशी होती है। दोनों बॉलीवुड के दो बेहतरीन और प्रतिभाशाली अभिनेता हैं और उन्होंने इस फिल्म के साथ इसे फिर से साबित कर दिया है। नीरज काबी ठीक हैं। हमेशा की तरह आला अधिकारी और रसूखदार आदमी की किरदार में फबे हैं। इला अरुण, बृजेंद्र काला, गोपाल दत्त, मुकुल चड्ढा ने अपनी छोटी भूमिकाओं का अच्छा इस्तेमाल किया है। बृजेंद्र काला फिल्म में एक चापलूस किस्म का और निहायत बोर इंसान भी हैं। जिसे उन्होंने हमेशा की तरह अपने अंदाज में अच्छे से किया है।

विजय राज ने एक पशु-प्रेमी व्यक्ति की भूमिका कुशलता से निभाई है। विजय राज का यह किरदार विद्या की परेशानी को समझने और T12 की परवाह करने वाले उसके कुछ चुनिंदा पहचानों में से है। गैंग्स ऑफ वासेपुर के विधायक जेपी सिंह फेम अभिनेता सत्य काम आनंद (Satya Kam Anand Actor) भी फिल्म में पीके भैया के महत्वपूर्ण भूमिका में हैं। जेपी सिंह के किरदार में प्रसिद्ध हुए सत्य काम, शेरनी (Sherni 2021 Hindi Film Review) में भी अपना छाप छोड़ जाते हैं। अपने सधे हुए अदाकारी से सभी अभिनेताओं ने फिल्म की कहानी में जान डाल दी है।

निर्देशक अमित मसूरकर सीधे मुद्दे पर लाते हैं

निर्देशक अमित वी. मसूरकर तालियों के पात्र हैं। वह बिना समय बर्बाद किए सीधे मुद्दे पर आते हैं और सही टिप्पणी करते हैं। वह हर बात को विस्तार से समझाते हैं और दर्शकों को अंधेरे में नहीं रखने की कोशिश करते हैं। वह कलाकारों से उनके सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन को इतनी आसानी से बाहर लाने में कामयाब हुए हैं।

Sherni देखने से पहले ध्यान रखें:

फिल्म: Sherni (2021, Amazon Original Hindi Review)
कलाकार- विद्या बालन (Vidya Balan) नीरज काबी (Neeraj Kabi) विजय राज (Vijay Raaz) मुकुल चड्ढा (Mukul Chadda) बृजेंद्र काला (Brijendra Kala) शरत सक्सेना (Sharat Saxena) ईला अरुण (Ila Arun) सत्य काम आनंद (Satya Kam Anand) आदि।
निर्देशक- अमित मसूरकर (Amit Masurkar)

लेखक: अमित मसूरकर, यशस्वी मिश्रा (Yashasvi Mishra) आस्था टिकू।
फिल्म की अवधि: 2 घंटे 10 मिनट
कहां देखें: अमेजन प्राइम वीडियो (Amazon Prime Video) 
रेटिंग: 4/5
क्या है खास: लॉकडाउन अवधि में आने वाली सभी बेहतरीन फिल्मों में से एक है यह फिल्म। एक बार जरूर देखें। हां, बॉलीवुड मसाले नहीं मिलेंगे, लेकिन संदेश प्रमुखता से ले सकेंगे।

शेरनी का ऑफिशियल ट्रेलर देखें

क्रेडिट: अमेजन प्राइम यूट्यूब

 

Read the latest and breaking Hindi news on moviezoobie.com. Get Hindi news about Bollywood, Hollywood, Lifestyle, Relationship, Celebrity and much more.

क्रडिट: MovieZoobie.com

Related posts

Leave a Comment